Home राजनीति राष्ट्रीय दल प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर निशाना- जब नाश मनुज पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है

प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर निशाना- जब नाश मनुज पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है

आउटलुक टीम - MAY 07 , 2019
प्रियंका गांधी का पीएम मोदी पर निशाना- जब नाश मनुज पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है
ANI

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी अंबाला लोकसभा क्षेत्र से पार्टी प्रत्याशी कुमारी शैलजा के चुनाव प्रचार के लिए पहुंचीं। प्रियंका गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा।

उन्होंने पीएम मोदी का नाम लिए बगैर कहा, ‘चुनाव प्रचार में बीजेपी के नेता कभी ये नहीं कहते कि उन्होंने जो वादे किए थे वो पूरे किए या नहीं। कभी शहीदों के नाम पे वोट मांगते हैं तो कभी मेरे परिवार के शहीद सदस्यों का अपमान करते हैं।‘

जब नाश मनुज पर छाता है...

उन्होंने कवि रामधारी सिंह 'दिनकर' की पंक्तियों के हवाले से कहा, 'देश ने अहंकार को कभी माफ नहीं किया। ऐसा अहंकार दुर्योधन में भी था। जब भगवान कृष्ण उन्हें समझाने गए तो उनको भी दुर्योधन ने बंधक बनाने की कोशिश की। दिनकर जी की पंक्तियां हैं, ‘जब नाश मनुज पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है।‘

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘लोकतंत्र को नष्ट करने की कोशिश हो रही है। नागरिक हितों को सुरक्षित रखने वाले तंत्र से छेड़छाड़ हो रही है।‘ उन्होंने लोगों से रोजगार, विकास, किसान व सर्वसमाज के हितों के मद्देनजर कांग्रेस को वोट देने की अपील की।

देश को शहंशाह की नहीं लोकतंत्र की जरूरत

प्रियंका गांधी ने कहा कि देश को शहंशाह की नहीं लोकतंत्र की जरूरत है। उन्होंने कहा कि देश में सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी का है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट कर दिया है। देश पूछ रहा है कि मोदी जी आपने जो 2 करोड़ रोजगार का वादा किया था, उसका क्या हुआ? उन्होंने कहा कि नोटबंदी कर कालाधन वापस आने की बात कहकर लोगों को लाइनों में लगा दिया, लेकिन एक रुपया कालाधन वापस नहीं आया।

ऐतिहासिक है अंबाला का रैली स्थल

इसी मैदान में कभी उनकी दादी इंदिरा गांधी, पिता राजीव गांधी और मां सोनिया गांधी ने भी चुनाव सभा किया था। शैलजा के गांधी परिवार से नजदीकियों के चलते प्रियंका गांधी यहां आई हैं। अंबाला में रैली के बाद प्रियंका हिसार में पार्टी प्रत्‍याशी भव्‍य बिश्‍नोई के चुनाव प्रचार के लिए पहुंचेंगी।

अब आप हिंदी आउटलुक अपने मोबाइल पर भी पढ़ सकते हैं। डाउनलोड करें आउटलुक हिंदी एप गूगल प्ले स्टोर या एपल स्टोर से